-आपका कंटेंट कहीं से भी कॉपी-पेस्ट हुआ नहीं होना चाहिए। आप रिसर्च के लिए दूसरी जगहों से प्रेरित हो सकता है।
-यदि लेखन में कोई ऐसी चीज़ है जो बहार से की गई है, और वह वैसे ही लिखी गई है, तो उसका स्रोत लिखना ज़रूरी है।
-आपके लेखन में निष्कर्ष यानि कनक्लूशन होना ज़रूरी है ताकि लेखन पूरा लगे। लेखन की फॉर्मेटिंग भी सही तरह से की जानी चाहिए।
Was this article helpful?
Cancel
Thank you!